क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए

क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए

क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए
क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए

आज के समय में सुविधाओं की कमी नहीं है लेकिन आप से सवाल पूछा जाता है क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए| इलेक्ट्रिसिटी के आने से इंटरनेट के आने से इंसानों के पास मोबाइल फोन के आने से रोबोट के आने से कई प्रकार की सुविधाओं का फायदा हो चुका है| आज के समय में यदि आपको गर्मी फेल होते हैं तो आप पंखा चला कर ऐसे चला कर मौसम को ठीक करके सुविधाओं (तकनीकी शिक्षा) का आनंद उठा लेते हैं|

और यदि आपको ज्यादा ठंड लगते हैं तो आप हीटर जलाकर गर्म वातावरण करके भी आनंद उठा लेते हो| आपके सुबह से लेकर शाम तक आपको कई प्रकार की सुविधाओं का लाभ मिल जाता है| आप इस स्मार्टफोन का इस्तेमाल करके आप लोगों से बातें कर सकते हो लोगों तक अपने संदेश को पहुंचा सकते हो वह भी मात्र कुछ ही सेकंड में|

आप हो सात समुंदर पार अपने बातों को अपने चेहरे को या अपने किसी दस्तावेजों को पहुंचाने के लिए ज्यादा लंबा समय नहीं मात्र एक मिनट के अंदर आपका सारा काम हो जाता है| यह सब सफल हो पाया है आज के टेक्नोलॉजी की वजह से| क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए| आज आपसे कोई पूछे कि आपको सुविधाओं के साथ रहना चाहिए या नहीं तो बहुत सारे लोग कहेंगे सुविधाओं के साथ रहना चाहिए|

थोड़ी इतिहास की बात भी कर लेते हैं|

दि हम अपने इतिहास में देखेंगे तो पाएंगे कि इतिहास में लोग ज्यादा सुविधाओं के साथ नहीं रहते थे उनके पास रहने के मकान भी सही से नहीं बने थे| ना तो उनके पास अपने काम को करने के लिए किसी प्रकार की मशीन थी ना ही उनके पास स्मार्टफोन था जिससे वह किसी से बात कर सके किसी तक अपने बातों को पहुंचा सके| आज के समय में यदि कोई त्यौहार होता है तो लोग सोशल मीडिया के सहारे व्हाट्सएप के सहारे अपनी बातों को पहुंचा देते हैं|

लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि पहले के समय में ऐसा बिल्कुल नहीं होता था क्योंकि जब उनको इसे त्यौहार को करना पड़ता था तो सभी लोग इकट्ठा होकर किसी भी त्यौहार को सही तरीके से सेलिब्रेट किया करते थे| लेकिन आज के समय में ऐसा बिल्कुल नहीं होता है|

क्योंकि आज के समय के लोग त्योहारों को मिलकर नहीं बल्कि सोशल मीडिया के सहारे ही मना लेते हैं| आज के समय में बहुत सारी चीजों का लाभ हो पाया है हम पहले से ज्यादा अपने आप को डेवलप कर पाए हैं लेकिन हमने प्रकृति को बहुत ज्यादा पीछे छोड़ दिया है|

पहले के समय में हम प्रकृति से बहुत ज्यादा करीब थे हम जानवरों के बहुत ज्यादा करीब थे लेकिन जैसे-जैसे हम आगे बढ़ते जा रहे हैं हम प्रकृति से पीछे होते जा रहे हैं जानवरों से पीछे होते जा रहे हैं हम अपने अस्तित्व को भूलते जा रहे हैं हम अपने इतिहास को भूलते जा रहे हैं| आज के समय में हमें पढ़ाया जाता है किस तरीके से हमें देश को डेवलप करना है हमें अपने आप को विकसित करना है ताकि हम समाज में अपने देश का नाम रोशन कर सकें और अपने देश का पूरी दुनिया के सामने नाम रोशन कर सकें|

क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए

एक बार फिर मैं आपसे एक सवाल पूछता हूं क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए|

स पर आपका सवाल हां हो या ना हो मैं दोनों ही बातों को आप के पक्ष में रखना चाहूंगा|

पहले स्थिति में हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना नहीं चाहिए|

जाने कि पहले के टाइम पर जो लोग सुविधाओं के साथ नहीं रहते थे हमें जस्ट वैसे ही जीवन बिताना है| यदि हम समाज में कुछ पुराने तरीके के चीजों को अपनाएं तो हो सकता है हम मजाक का पात्र बन जाए| लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है इससे हम काफी लोगों को देख भी दे सकते हैं और हो सकता है कि बहुत सारे लोगों को यह बात समझ में आने लगे|

और सभी लोग यह कहेंगे कि यदि तुम पुराने जमाने के लोगों की तरह रहना चाहते हो तो उनके लिए तुम उनकी तरह ही देश में जाकर बसों यानी कि जंगल| हमें किसी बड़े जंगल में जाकर अपना घर बनाना पड़ेगा और वहीं पर जीवन काटना पड़ेगा सभी सुख-सुविधाओं से परे| उस देश में कुछ जंगल में किसी भी प्रकार की सुविधाओं का हमें लाभ नहीं हो पाएगा हम ना तो किसी से बात कर सकेंगे ना किसी इलेक्ट्रॉनिक सामान का इस्तेमाल कर पाएंगे|

ना ही हम किसी लोगों से इंटरनेट के माध्यम से बात कर सकेंगे और ना ही हम किसी भी चीज का जो इंटरनेट में अवेलेबल है उसका आनंद ले पाएंगे| तो ऐसे में हमें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि आज के समय में कोई भी दिक्कत काटने को तैयार नहीं है| ऐसी स्थिति में हो सकता है दुनिया के शायद ही कोई लोग होगा जो इस तरह की जिंदगी बिताने के लिए शौकीन होगा|

दूसरी स्थिति में हम रखेंगे एक ऐसी जगह जहां पर सभी लोग सुविधाओं का आनंद उठा रहे हैं|

यहां पर हम उन लोगों का बात करेंगे जो कई तरह की सुविधाओं का लाभ उठा रहे हैं| यदि आज के समय में सभी को समय के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ना है तो हमें इन सुविधाओं का लाभ उठाना ही पड़ेगा| लेकिन यहां पर हम कुछ शर्तों को रख सकते हैं|

जैसे की हम कैसे भी सुविधाओं का लाभ लेंगे तो हम उस में पर्यावरण को जंगलों को साथ लेकर चलेंगे और उनको भी आगे बढ़ाते चलेंगे| यदि हम एक ऐसे जीवन की कल्पना कर सकते हैं|

जिसमें हम अपने पुराने सभी चीजों को साथ लेकर आगे बढ़ रहे हैं तो हम कह सकते हैं कि हम विकसित हो रहे हैं| लेकिन यदि हम सिर्फ और सिर्फ मानव को ही साथ लेकर चलें और अपने पर्यावरण को छोड़ दें तो हम किसी और को नहीं बल्कि अपने आप को ही धोखा दे रहे हैं|

जैसा कि आप जानते हो कि दुनिया में रहने वाली हर एक चीज का हमारे एक जीवन चक्र में बहुत ही ज्यादा अहम रोल होता है और उसके बिना जीवन चक्र में काफी ज्यादा मुश्किलों आ जाती हैं| हमारे जीवन में चींटी से लेकर 1 हाथी तक का बहुत बड़ा रोल होता है| यदि हम अपने जीवन में सभी पेड़ पौधों को साथ लेकर चलते हैं और पर्यावरण को स्वस्थ रखकर साथ विकसित करते हैं| तो यह संभव है कि हम आने वाले समय में बहुत आगे पहुंच जाएंगे और जल्दी हम बहुत बड़े विकसित व्यक्ति बन जाएंगे|

निष्कर्ष

आशा करता हूं आपको यह आर्टिकल समझ में आया होगा और मैं आपसे एक रिक्वेस्ट करता हूं कि आप इस आर्टिकल को अपने सभी सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि हम उन तक अपने बातों को पहुंचा पाए| हमें मालूम चला रहे हैं जिसमें हम सभी लोगों को साथ लेकर चलने की प्रेरणा दे रहे हैं सभी को अच्छी अच्छी जानकारी और से रूबरू करवा रहे हैं|

और इसमें आप हमारी इस पोस्ट को शेयर करके बहुत बड़ा योगदान जरूर दें| आपका योगदान लाखों-करोड़ों लोगों को हमारी जानकारियों से पहुंचना कर उन्हें बता सकता है समझा सकता है कि जीवन कैसे चलती है| इस पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए आपका दिल की गहराइयों से बहुत-बहुत धन्यवाद|

Related Post

भारत में त्योहारों के महत्व जानकर आप हैरान हो जाओगे

हमें पोस्टिक आहार ही क्यों लेना चाहिए

क्यों आखिर में हमारा मन गेम खेलने की तरफ आकर्षित होता है

लक्ष्य हासिल करने के लिए हमें क्या करना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

क्यों आखिर में हमारा मन गेम खेलने की तरफ आकर्षित होता है

Wed Jul 21 , 2021
क्यों आखिर में हमारा मन गेम खेलने की तरफ आकर्षित होता है आज मैं आपको बताऊंगा क्यों हमारा मन आखिर में गेम खेलने की तरफ […]
क्यों आखिर में हमारा मन गेम खेलने की तरफ आकर्षित होता है