हमें पोस्टिक आहार ही क्यों लेना चाहिए

हमें पोस्टिक आहार ही क्यों लेना चाहिए

हमें पौष्टिक आहार ही क्यों लेना चाहिए
हमें पौष्टिक आहार ही क्यों लेना चाहिए

आज के समय में लोग कई प्रकार के भोजन खाते हैं लोग सड़कों पर भी खा लेते हैं लोग घर में भी बनाकर कई प्रकार के भोजन खाते हैं| अब यदि हम सही मायने में देखें तो पाएंगे कि बहुत सारी बीमारियां होती है और सब बीमारियों की जड़ हमारी पेट के अंदर से ही शुरुआत होते हैं| यानी कि आप को समझना होगा कि इंसान के अंदर जब भी किसी बीमारी का जन्म होता है तो उसकी बीमारी का जन्म उसके पेट से ही शुरू होता है| इसलिए यह जरूरी हो चुका है कि हमें अपने पेट को स्वस्थ रखना है हमें बढ़िया भोजन खाने हैं|

आज इस आर्टिकल में मैं आपको बताने वाला हूं कि किस तरीके के भोजन आपको खाने चाहिए किस तरीके के भोजन आपको नहीं खाने चाहिए चाहे घर पर हो या बाहर में खाना कैसा हो यह आपके बॉडी पर भी डिपेंड करता है| कुछ लोगों को कुछ खास किस्म के खाना पसंद नहीं है या तो उनसे उसको एलर्जी होती है या उनके मन में अलग प्रकार के विचार आते हैं इसलिए वह उस भजन को नहीं खाते हैं|

कुछ लोग शाकाहारी होते हैं तो कुछ मांसाहारी होते हैं और कुछ लोग सर्वाहारी होते हैं वैसे भारत में ज्यादातर लोग यादव सर्वाहारी होंगे या फिर शाकाहारी होंगे| अब इंसान शाकाहारी हो या सर्वाहारी हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता बस फर्क तो इससे पड़ता है कि आप किस प्रकार भोजन कर रहे हैं|

External Link: स्वस्थ जीवन के लिए हेल्दी डाइट चार्ट

हमें पोस्टिक आहार ही क्यों लेना चाहिए

यदि आप सही खाने को समय पर खा ले तो कोई दिक्कत नहीं है लेकिन यदि आप खाना बढ़िया होने के बावजूद भी उसको टाइम पर ना खाएं और बासी होने के बाद या देर बाद खाएं तो भी आपको कई प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ सकता है| आपके समस्याओं के समाधान को लेकर हम आज इस आर्टिकल में आपके सामने प्रस्तुत हुए हैं आज हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे कि खाना को खाने से पहले और खाने के बाद आपको किस तरीके का बर्ताव रखना है|

सबसे पहले आपको समझना है कि आप जिस खाने को खा रहे हो उस खाने में सभी पौष्टिक तत्व संतुलित मात्रा में है या नहीं है| मुझे पता है यह आपके लिए मापना दिक्कत होगा क्योंकि हमारे पास किसी भी प्रकार का कोई पैरामीटर नहीं है जिससे हम खाने को तो बोल सके या माफ सके कि उसके अंदर हमारे लिए कितने पौष्टिक तत्व हैं|

वैज्ञानिकों की मानें तो दूध को संतुलित आहार कहा जाता है क्योंकि इसमें सभी प्रकार के पोस्टिक तत्व संतुलित मात्रा में होते हैं जो हमारे शरीर के लिए ज्यादा लाभदायक होते हैं| क्या आपको पता है जो भारत का स्टैंडर्ड थाली होती है जिस पर खाना खाया जाता है वह संतुलित खाना होता है| यानी कि यदि बात करें भारत की जो थाली तय की गई है जिसमें रोटी चावल दाल सब्जी सलाद रायता इत्यादि होते हैं उसमें संतुलित मात्रा में पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा आवश्यक होते हैं|

भारत की बात करें तो बाहर में लोग चाइनीस फूड को खाना पसंद करते हैं क्या आपको पता है चाइनीस फूड आपके सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है| चाइनीस खाने में अधिक मात्रा में मैदा पाया जाता है जो आपके शरीर में आंतों में जल्दी पचता नहीं है और आपको कई प्रकार की बीमारियों से ग्रसित करवा देता है| अब आप ध्यान रखें जब भी आप बाहर जाएं तो चौमिन चिली पटेटो मोमोस जैसे भोजन को कम ही खाएं क्योंकि इससे आपको फायदा नहीं होगा बल्कि नुकसान होगा और इस प्रकार के भोजन को खाने से आपको कई प्रकार की हेल्थ से संबंधित बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है|

पहले जान लेते हैं कि संतुलित खाना किसे कहते हैं और इसके क्या फायदे होते हैं

सबसे पहले आपको मैं बताऊंगा कि संतुलित भोजन एक ऐसा भोजन होता है जिसमें आपको सभी चीज संतुलित मात्रा में मिलती है जो कि आपके शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है| यानी कि यदि आप संतुलित भोजन को लेते हो तो इससे आपको और आपके शरीर को किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं होते हैं बल्कि आपका शरीर पहले से ज्यादा स्ट्रांग होता है और आप अधिक काम करने में सक्षम हो पाते हो|

और आपको यदि कोई बीमारी लग भी रही है तो आपको बीमारी नहीं होगी| संतुलित भोजन का मतलब एक ऐसे भोजन से हैं जिसमें सभी प्रकार के विटामिन संतुलित मात्रा में होती है इसमें कार्बोहाइड्रेट प्रोटीन वसा संतुलित जैसे फाइबर और पानी भी संतुलित मात्रा में होती है| क्या आप जानते हो बच्चों को बचपन में दूध ही क्यों पिलाया जाता है क्योंकि मां का गाढ़ा पीला दूध संतुलित भोजन की तरह होता है जो बच्चों को अंदर से संतुलित रखता है|

और उनको कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने से बचाता है| अब आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि संतुलित भोजन आप कहां कहां से ले सकते हो और कौन से विटामिन से आपको कितना फायदा होता है| भारत के स्टैंडर्ड शाकाहारी थाली में जो भोजन होता है वह संतुलित भोजन होता है और उसको ही खाना चाहिए| लेकिन हो सकता है कि आप मांसाहारी हो और आपको मांस खाना भी पसंद हो तो इसके लिए भी आप अलग प्रकार की थाली बनवा सकते हो जो कि शाकाहारी होते हैं और मांसाहारी दोनों का ही निश्चित होता है

भोजन में विटामिनों का महत्व

जैसा कि आप जान चुके हो कि भोजन में कई प्रकार के विटामिंस पाई जाती है जैसे विटामिन ए विटामिन बी विटामिन सी विटामिन डी विटामिन के विटामिन प्रोटीन वसा कार्बोहाइड्रेट फाइबर ऐसे इत्यादि| विटामिन ए आपकी आंखों के लिए बढ़िया होता है यदि आपको आंख संबंधी कोई बीमारी होती है तो आपको वाइट में ऐसे पोस्टिक भोजन लेना चाहिए जिसमें गाजर गोभी पत्ता गोभी दूध इत्यादि शामिल होते हैं|

आपको विटामिन बी को लेना भी नहीं छोड़ना चाहिए क्योंकि इससे आपको कई प्रकार की बीमारियों से सामना करने में आसानी होती है और इससे बेरी बेरी बीमारी से भी राहत होता है|

यदि आप किसी भी प्रकार की बीमारी से गुजर रहे और यदि आपको जल्द ही बीमारी लग जाती है तो इसका मतलब यह होता है कि आपके अंदर से जो प्रतिरक्षी होते हैं वह खत्म हो चुके हैं और उसको बनाने के लिए आप विटामिन सी को प्राथमिकता दे सकते हो| विटामिन सी में टमाटर नींबू जैसे ही शामिल होते हैं इसमें कुछ खट्टे प्रकार के साइट्रिक अम्ल से जुड़े हुए प्रोडक्ट शामिल किए जाते हैं जो कि आपके शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होते हैं|अब आपको बताते हैं विटामिन डी के बारे में विटामिन डी में पाए जाने वाले कुछ भोजन दूध से संबंधित सामग्री जैसे खोया पनीर दही|

और यदि आप मांसाहारी हो तो आपके लिए अंडा मछली मछली का तेल इत्यादि शामिल है| आप इन भोजन का इस्तेमाल अपने विटामिन डी के लिए कर सकते हो और इनसे आपके हड्डियों में आपके दातों में मजबूती आती है और आपका शरीर स्वस्थ होना शुरू हो जाता है| आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि आपको वेटमेंट देखो ज्यादा नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव भी पढ़ सकते हैं|

अब आपको समझ में आ गया होगा कि भोजन आपके लिए कितना जरूरी है और उतना ही जरूरी है कि भोजन को आप समय पर लें और संतुलित भोजन लें| संतुलित भोजन और समय पर भोजन लेना है सबसे बढ़िया और अच्छा काम माना जाता है यदि आपको लंबे समय तक जीना है लंबे लक्ष्य को पूरा करना है और अधिक काम कर सकने की ताकत अपने शरीर में लेकर आनी है तो आपको आज सही संतुलित भोजन पर ध्यान लगाना शुरु करना होगा|

यह बात सच है कि बहुत सारे लोगों का मन संतुलित भोजन पर नहीं बल्कि चाइनीस फूड हो गया या बाहर में बंद है जो खुले प्रोडक्ट होते हैं या बंद पैकेट के दो समान होते हैं उसको खाने का मन करता है| लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि इन समान खाने से आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं और आपका स्वास्थ्य बिगड़ना शुरू हो जाता है तो आप अभी से ही यह निर्णय लें कि आप स्वस्थ जीवन जीने के लिए स्वस्थ यानी कि संतुलित भोजन को लेना शुरू करेंगे|

Conclusion

हमारे वेबसाइट पर इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद हम आपसे एक रिक्वेस्ट करते हैं कि आप इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों तक जरूर पहुंचाएं| ताकि अन्य लोग भी इस पोस्ट में लिखे हुए बातों को पढ़कर आनंद ले सकें| इस पोस्ट में यदि आपको किसी भी प्रकार के कुछ बातों को ऐड करना हो| तो आप कमेंट में बताना बिल्कुल ना बोले हम आपके बातों को अपने वेबसाइट पर ऐड जरूर करेंगे पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद|

Related Post

भारत में त्योहारों के महत्व जानकर आप हैरान हो जाओगे

क्यों आखिर में हमारा मन गेम खेलने की तरफ आकर्षित होता है

लक्ष्य हासिल करने के लिए हमें क्या करना चाहिए

क्या हमें ज्यादा सुविधाओं के साथ रहना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

घर बैठे ऑनलाइन कमाई कैसे करें - Tips and Tricks

Thu Jul 22 , 2021
घर बैठे ऑनलाइन कमाई कैसे करें – Tips and Tricks आज के समय की सबसे बड़ी समस्या पैसे की तंगी दे रखी है और यदि […]
घर बैठे ऑनलाइन कमाई कैसे करें - Tips and Tricks